Krishn Bihari Noor's Photo'

कृष्ण बिहारी नूर

1926 - 2003 | लखनऊ, भारत

लोकप्रिय शायर, लखनवी भाषा-संस्कृति के नुमाइंदे।

लोकप्रिय शायर, लखनवी भाषा-संस्कृति के नुमाइंदे।

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
Nazar mila na sake us se us nigaah ke baad

कृष्ण बिहारी नूर

Reading his poetry at a mushaira

कृष्ण बिहारी नूर

Wo kya hai, kaun hai, kaise koi nazar jaane

कृष्ण बिहारी नूर

इक ग़ज़ल उस पे लिखूँ दिल का तक़ाज़ा है बहुत

कृष्ण बिहारी नूर

ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं

कृष्ण बिहारी नूर

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं

ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं जगजीत सिंह

ruk gaya aankh se behta hua dariya kaise

ruk gaya aankh se behta hua dariya kaise अज्ञात

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • Nazar mila na sake us se us nigaah ke baad

    Nazar mila na sake us se us nigaah ke baad कृष्ण बिहारी नूर

  • Reading his poetry at a mushaira

    Reading his poetry at a mushaira कृष्ण बिहारी नूर

  • Wo kya hai, kaun hai, kaise koi nazar jaane

    Wo kya hai, kaun hai, kaise koi nazar jaane कृष्ण बिहारी नूर

  • इक ग़ज़ल उस पे लिखूँ दिल का तक़ाज़ा है बहुत

    इक ग़ज़ल उस पे लिखूँ दिल का तक़ाज़ा है बहुत कृष्ण बिहारी नूर

  • ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं

    ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं कृष्ण बिहारी नूर

अन्य वीडियो

  • ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं

    ज़िंदगी से बड़ी सज़ा ही नहीं जगजीत सिंह

  • ruk gaya aankh se behta hua dariya kaise

    ruk gaya aankh se behta hua dariya kaise अज्ञात