noImage

महज़र लखनवी

महज़र लखनवी

ग़ज़ल 1

 

शेर 1

क़फ़स से आशियाँ तब्दील करना बात ही क्या थी

हमें देखो कि हम ने बिजलियों से आशियाँ बदला