Pallav Mishra's Photo'

पल्लव मिश्रा

1998 | दिल्ली, भारत

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
कुछ ऐसे दो-जहाँ से राब्ता रक्खा गया है

पल्लव मिश्रा

तुम्हारी दुनिया के बाहर अंदर भटक रहा हूँ

पल्लव मिश्रा

लहू में घुल घुल के बह रहे थे रगों के अंदर

पल्लव मिश्रा

वो बार-ए-फ़र्ज़-ए-तकल्लुफ मुझी को धोना पड़ा

पल्लव मिश्रा

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • कुछ ऐसे दो-जहाँ से राब्ता रक्खा गया है

    कुछ ऐसे दो-जहाँ से राब्ता रक्खा गया है पल्लव मिश्रा

  • तुम्हारी दुनिया के बाहर अंदर भटक रहा हूँ

    तुम्हारी दुनिया के बाहर अंदर भटक रहा हूँ पल्लव मिश्रा

  • लहू में घुल घुल के बह रहे थे रगों के अंदर

    लहू में घुल घुल के बह रहे थे रगों के अंदर पल्लव मिश्रा

  • वो बार-ए-फ़र्ज़-ए-तकल्लुफ मुझी को धोना पड़ा

    वो बार-ए-फ़र्ज़-ए-तकल्लुफ मुझी को धोना पड़ा पल्लव मिश्रा