Qaisar Shameem's Photo'

क़ैशर शमीम

1936 | पश्चिम बंगाल, भारत

ग़ज़ल 9

शेर 6

मेरा मज़हब इश्क़ का मज़हब जिस में कोई तफ़रीक़ नहीं

मेरे हल्क़े में आते हैं 'तुलसी' भी और 'जामी' भी

  • शेयर कीजिए

सब्ज़ मौसम से मुझे क्या लेना

शाख़ से अपनी जुदा हूँ बाबा

  • शेयर कीजिए

मौसम अजीब रहता है दल के दयार का

आगे हैं लू के झोंके भी ठंडी हवा के बा'द

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 4

Pahad Kattye Hue

 

1998

Sans Ki Dhar

 

1997

उर्दू अदब पर ज़रा-ए-तरसील-ए-अाम्मा के असरात

 

1989

Dastakhat,Barrackpur

Qaisar Shameem Number

2005

 

संबंधित शायर

  • अब्बास अली ख़ान बेखुद अब्बास अली ख़ान बेखुद गुरु