Shakeel Badayuni's Photo'

शकील बदायुनी

1916 - 1970 | मुंबई, भारत

प्रसिद्ध फ़िल्म गीतकार और शायर

प्रसिद्ध फ़िल्म गीतकार और शायर

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

शकील बदायुनी

शकील बदायुनी

शकील बदायुनी

बीत गया हंगाम-ए-क़यामत रोज़-ए-क़यामत आज भी है

शकील बदायुनी

हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे

शकील बदायुनी

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
Shanti Hiranandji singing 'door hai manzil'

Shanti Hiranandji singing 'door hai manzil' शांति हीरानंद

आँख से आँख मिलाता है कोई

आँख से आँख मिलाता है कोई लता मंगेशकर

आँख से आँख मिलाता है कोई

आँख से आँख मिलाता है कोई शकील बदायुनी

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इक शहंशाह ने बनवा के....

इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम

इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम बेगम अख़्तर

इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम

इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम शकील बदायुनी

ऐ इश्क़ ये सब दुनिया वाले बे-कार की बातें करते हैं

ऐ इश्क़ ये सब दुनिया वाले बे-कार की बातें करते हैं लता मंगेशकर

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शांति हीरानंद

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया उस्बताद बरकत अली ख़ान

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शकील बदायुनी

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया बेगम अख़्तर

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शकील बदायुनी

कैसे कह दूँ की मुलाक़ात नहीं होती है

कैसे कह दूँ की मुलाक़ात नहीं होती है पंकज उदास

कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है

कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है तलअत महमूद

कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है

कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है शकील बदायुनी

ख़ुश हूँ कि मिरा हुस्न-ए-तलब काम तो आया

ख़ुश हूँ कि मिरा हुस्न-ए-तलब काम तो आया बेगम अख़्तर

ज़िंदगी उन की चाह में गुज़री

ज़िंदगी उन की चाह में गुज़री उस्ताद मोहन ख़ान

ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या

ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या बेगम अख़्तर

ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या

ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या शकील बदायुनी

तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे

तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे लता मंगेशकर

तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे

तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे शकील बदायुनी

तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा

तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा मुन्नी बेगम

तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा

तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा शकील बदायुनी

नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता

नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता शकील बदायुनी

नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता

नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता शांति हीरानंद

बहार आई किसी का सामना करने का वक़्त आया

बहार आई किसी का सामना करने का वक़्त आया

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शांति हीरानंद

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे मुन्नी बेगम

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे रीता गांगुली

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे बेगम अख़्तर

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी

रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी तलअत महमूद

रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी

रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी शकील बदायुनी

शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का

शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का कुसुम शर्मा

शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का

शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का शकील बदायुनी

हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे

हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे तलअत महमूद

हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे

हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे शकील बदायुनी

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे फ़रीदा ख़ानम

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा पीनाज़ मसानी

मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा शकील बदायुनी

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया टीना सानी

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शकील बदायुनी

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शोभा गुर्टू

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • शकील बदायुनी

  • शकील बदायुनी

  • शकील बदायुनी

  • बीत गया हंगाम-ए-क़यामत रोज़-ए-क़यामत आज भी है

    बीत गया हंगाम-ए-क़यामत रोज़-ए-क़यामत आज भी है शकील बदायुनी

  • हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे

    हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे शकील बदायुनी

अन्य वीडियो

  • Shanti Hiranandji singing 'door hai manzil'

    Shanti Hiranandji singing 'door hai manzil' शांति हीरानंद

  • आँख से आँख मिलाता है कोई

    आँख से आँख मिलाता है कोई लता मंगेशकर

  • आँख से आँख मिलाता है कोई

    आँख से आँख मिलाता है कोई शकील बदायुनी

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इक शहंशाह ने बनवा के....

    इक शहंशाह ने बनवा के.... अज्ञात

  • इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम

    इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम बेगम अख़्तर

  • इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम

    इस दर्जा बद-गुमाँ हैं ख़ुलूस-ए-बशर से हम शकील बदायुनी

  • ऐ इश्क़ ये सब दुनिया वाले बे-कार की बातें करते हैं

    ऐ इश्क़ ये सब दुनिया वाले बे-कार की बातें करते हैं लता मंगेशकर

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शांति हीरानंद

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया उस्बताद बरकत अली ख़ान

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शकील बदायुनी

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया बेगम अख़्तर

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शकील बदायुनी

  • कैसे कह दूँ की मुलाक़ात नहीं होती है

    कैसे कह दूँ की मुलाक़ात नहीं होती है पंकज उदास

  • कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है

    कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है तलअत महमूद

  • कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है

    कोई आरज़ू नहीं है कोई मुद्दआ' नहीं है शकील बदायुनी

  • ख़ुश हूँ कि मिरा हुस्न-ए-तलब काम तो आया

    ख़ुश हूँ कि मिरा हुस्न-ए-तलब काम तो आया बेगम अख़्तर

  • ज़िंदगी उन की चाह में गुज़री

    ज़िंदगी उन की चाह में गुज़री उस्ताद मोहन ख़ान

  • ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या

    ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या बेगम अख़्तर

  • ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या

    ज़िंदगी का दर्द ले कर इंक़लाब आया तो क्या शकील बदायुनी

  • तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे

    तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे लता मंगेशकर

  • तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे

    तक़दीर की गर्दिश क्या कम थी इस पर ये क़यामत कर बैठे शकील बदायुनी

  • तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा

    तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा मुन्नी बेगम

  • तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा

    तिरी अंजुमन में ज़ालिम अजब एहतिमाम देखा शकील बदायुनी

  • नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता

    नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता शकील बदायुनी

  • नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता

    नज़र-नवाज़ नज़ारों में जी नहीं लगता शांति हीरानंद

  • बहार आई किसी का सामना करने का वक़्त आया

    बहार आई किसी का सामना करने का वक़्त आया

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शांति हीरानंद

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे मुन्नी बेगम

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे रीता गांगुली

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे बेगम अख़्तर

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

  • रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी

    रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी तलअत महमूद

  • रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी

    रौशनी साया-ए-ज़ुल्मात से आगे न बढ़ी शकील बदायुनी

  • शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का

    शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का कुसुम शर्मा

  • शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का

    शायद आग़ाज़ हुआ फिर किसी अफ़्साने का शकील बदायुनी

  • हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे

    हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे तलअत महमूद

  • हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे

    हंगामा-ए-ग़म से तंग आ कर इज़हार-ए-मसर्रत कर बैठे शकील बदायुनी

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे फ़रीदा ख़ानम

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

  • मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

    मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा पीनाज़ मसानी

  • मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा

    मिरी ज़िंदगी है ज़ालिम तिरे ग़म से आश्कारा शकील बदायुनी

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया टीना सानी

  • ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया

    ऐ मोहब्बत तिरे अंजाम पे रोना आया शकील बदायुनी

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शकील बदायुनी

  • मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे

    मेरे हम-नफ़स मेरे हम-नवा मुझे दोस्त बन के दग़ा न दे शोभा गुर्टू