Siraj Aurangabadi's Photo'

सिराज औरंगाबादी

1712 - 1764 | औरंगाबाद, भारत

सूफ़ी शायर, जिनकी मशहूर ग़ज़ल ' ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ ' बहुत गाई गई है

सूफ़ी शायर, जिनकी मशहूर ग़ज़ल ' ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ ' बहुत गाई गई है

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही आबिदा परवीन

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही शौकत अली

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही विविध

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही विविध

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही विविध

अन्य वीडियो

  • ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

    ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही आबिदा परवीन

  • ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

    ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही शौकत अली

  • ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

    ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही विविध

  • ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

    ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही विविध

  • ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

    ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही विविध