Siraj Aurangabadi's Photo'

सिराज औरंगाबादी

1714 - 1763

सूफ़ी शायर, जिनकी मशहूर ग़ज़ल ' ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ ' बहुत गाई गई है

सूफ़ी शायर, जिनकी मशहूर ग़ज़ल ' ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ ' बहुत गाई गई है

ग़ज़ल 125

शेर 100

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन जुनूँ रहा परी रही

तो तू रहा तो मैं रहा जो रही सो बे-ख़बरी रही

मत करो शम्अ कूँ बदनाम जलाती वो नहीं

आप सीं शौक़ पतंगों को है जल जाने का

cast not blame upon the flame it doesn’t burn to sear

the moths are

cast not blame upon the flame it doesn’t burn to sear

the moths are

दो-रंगी ख़ूब नहीं यक-रंग हो जा

सरापा मोम हो या संग हो जा

ई-पुस्तक 9

बोस्तान-ए-ख़याल

 

1969

Intikhab Siraj Aurangabadi

 

2003

Intikhab-e-Siraj Aurangabadi

 

1994

इंतिख़ाब-ए-सिराज औरंगाबादी

 

2011

Kulliyat-e-Siraj

 

1938

Kulliyat-e-Siraj

 

1998

Kulliyat-e-Siraj

 

1982

Siraj Aurangabadi

 

2019

Siraj-e-Sukhan

 

1936

 

वीडियो 4

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

आबिदा परवीन

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

विविध

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

विविध

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

विविध

ऑडियो 5

कौन कहता है जफ़ा करते हो तुम

ख़बर-ए-तहय्युर-ए-इश्क़ सुन न जुनूँ रहा न परी रही

ख़ाक हूँ ए'तिबार की सौगंद

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • ख़्वाजा मीर दर्द ख़्वाजा मीर दर्द समकालीन
  • वली उज़लत वली उज़लत समकालीन
  • ख़ान आरज़ू सिराजुद्दीन अली ख़ान आरज़ू सिराजुद्दीन अली समकालीन
  • मोहम्मद रफ़ी सौदा मोहम्मद रफ़ी सौदा समकालीन
  • क़ाएम चाँदपुरी क़ाएम चाँदपुरी समकालीन
  • मीर तक़ी मीर मीर तक़ी मीर समकालीन
  • दाऊद औरंगाबादी दाऊद औरंगाबादी समकालीन

Added to your favorites

Removed from your favorites