Arshad Siddiqui's Photo'

अरशद सिद्दीक़ी

1923 - 2003 | भोपाल, भारत

सीमाब अकबराबादी के शागिर्द, मुशायरों में भी लोकप्रिय रहे

सीमाब अकबराबादी के शागिर्द, मुशायरों में भी लोकप्रिय रहे

ग़ज़ल 15

शेर 3

हो इंतिज़ार किसी का मगर मिरी नज़रें

जाने क्यूँ तिरी आमद की राह तकती हैं

फ़ज़ा है तीरा तारीक और उस का ख़याल

जाने कौन सी दुनिया में जा के सोया है

हमें मिट के भी ये हसरत कि भटकते उस गली में

वो हैं कैसे लोग या रब जो क़याम चाहते हैं

 

पुस्तकें 12

Aks-e-Khayal

 

1957

Arshad Siddiqi Ek Mutala

 

2004

Diyar-e-Naghma

 

1986

Khwaab-e-Zaar

 

2001

Khwab-e-Zar

 

1985

Naghma Zaar

 

2000

Nawa-e-Harf

 

2000

Pas-e-Aks-e-Khayal

 

2000

सहर होने तक

 

2002

Tuloo-e-Sahar

 

2000

"भोपाल" के और शायर

  • बशीर बद्र बशीर बद्र
  • अख़्तर सईद ख़ान अख़्तर सईद ख़ान
  • कैफ़ भोपाली कैफ़ भोपाली
  • नुसरत मेहदी नुसरत मेहदी
  • मुनीर भोपाली मुनीर भोपाली
  • परवीन कैफ़ परवीन कैफ़
  • ज़िया फ़ारूक़ी ज़िया फ़ारूक़ी
  • अहमद कमाल परवाज़ी अहमद कमाल परवाज़ी
  • बख़्तियार ज़िया बख़्तियार ज़िया
  • मंज़र भोपाली मंज़र भोपाली