दास्तान-ए अमीर हम्ज़ा


उर्दू दास्तान या रोमांस की परंपरा वीरगाथाओं और रासलीलाओं , जादू -टोने और चालबाज़ी की आश्चर्यचकित कर देने वाली घटनाओं से बनी है। एक दास्तान जिसका भारत में हमेशा बोलबाला रहा है वह है दास्तान -ए -अमीर हम्ज़ा। इसके नायक अमीर हम्ज़ा का विस्तृत उल्लेख सम्राट अकबर के हम्ज़ा-नामा में मिलता है जिसे पढ़कर ऐसा लगता है जैसे अकबर स्वयं भी इन दास्तानों को पसंद करता था और हरम में अपनी बेगमों को सुनाया करता था। ये कथाएं जैसे-जैसे हिन्द-फ़ारसी से उर्दू में दाख़िल होती गईं इनकी लोकप्रियता में वृद्धि होती गई।

….और देखिए

वीडियो

शम्सुर्रहमान फ़ारूक़ी के साथ इंटरव्यू



दास्तान-ए अमीर हम्ज़ा: खुदा बख्श लाइब्रेरी प्रकाशन


शीर्षक
इंतिख़ाब-ए तिलिस्म-ए होशरुबा
मुकद्दमा-ए तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
तिलिस्म-ए होशरुबा
बक़िया-ए तिलिस्म-ए होशरुबा
बक़िया-ए तिलिस्म-ए होशरुबा


दास्तान-ए अमीर हम्ज़ा: नवल किशोर प्रेस


क्रम संख्याशीर्षक
1नवशेरवान नामा
2नवशेरवान नामा
3हुरमुज़ नामा
4होमान नामा
5कोचक बाख़्तर
6बाला बाख़्तर
7इरज नामा
8इरज नामा
9तिलिस्म-ए होशरुबा
10तिलिस्म-ए होशरुबा
11तिलिस्म-ए होशरुबा
12तिलिस्म-ए होशरुबा
13तिलिस्म-ए होशरुबा
14तिलिस्म-ए होशरुबा
15तिलिस्म-ए होशरुबा
16तिलिस्म-ए होशरुबा
17संदली नामा
18तुरज नामा
19तुरज नामा
20लाल नामा
21लाल नामा
22अाफ़ताब-ए शुजाअत
23अाफ़ताब-ए शुजाअत
24अाफ़ताब-ए शुजाअत
25अाफ़ताब-ए शुजाअत
26अाफ़ताब-ए शुजाअत
27अाफ़ताब-ए शुजाअत
28गुलिस्तान-ए बाख़्तर
29गुलिस्तान-ए बाख़्तर
30गुलिस्तान-ए बाख़्तर
31तिलिस्म-ए फि़तना-ए नूर अफ़शान
32तिलिस्म-ए फ़ितना-ए नूर अफ़शान
33तिलिस्म-ए फ़ितना-ए नूर अफ़शान
34बक़िया-ए तिलिस्म-ए होशरुबा
35बक़िया-ए तिलिस्म-ए होशरुबा
36तिलिस्म-ए हफ़्त पैकर
37तिलिस्म-ए हफ़्त पैकर
38तिलिस्म-ए हफ़्त पैकर
39तिलिस्म-ए ख़याल-ए सिकन्दरी
40तिलिस्म-ए ख़याल-ए सिकन्दरी
41तिलिस्म-ए ख़याल-ए सिकन्दरी
42तिलिस्म-ए नवख़ेज़-ए जमशेदी
43तिलिस्म-ए नवख़ेज़-ए जमशेदी
44तिलिस्म-ए नवख़ेज़-ए जमशेदी
45तिलिस्मे-ए ज़ाफ़रानज़ार-ए सुलैमानी
46तिलिस्म-ए ज़ाफ़रानज़ार-ए सुलैमानी


संदर्भ सामग्री

पुस्तकें


शीर्षक
दी रोमांस ट्रेडीशन इन उर्दू

ऑडियो