मुझे रंग दे न सुरूर दे मिरे दिल में ख़ुद को उतार दे

इन्दिरा वर्मा

मुझे रंग दे न सुरूर दे मिरे दिल में ख़ुद को उतार दे

इन्दिरा वर्मा

MORE BYइन्दिरा वर्मा

    मुझे रंग दे सुरूर दे मिरे दिल में ख़ुद को उतार दे

    मिरे लफ़्ज़ सारे महक उठें मुझे ऐसी कोई बहार दे

    Give me neither colour nor intoxication, come into my heart instead

    Grant me a spring that will cause all my words to be filled with perfume

    मुझे धूप में तू क़रीब कर मुझे साया अपना नसीब कर

    मिरी निकहतों को उरूज दे मुझे फूल जैसा वक़ार दे

    Save me from the sun, keep me under your sheltering being

    Bring my fragrances to their summit, give me the honour of flowers

    मिरी बिखरी हालत-ए-ज़ार है तो चैन है क़रार है

    मुझे लम्स अपना नवाज़ के मिरे जिस्म जाँ को निखार दे

    I am in a state of scattered disarray, knowing neither rest nor respite

    Give me your touch, purify my body and soul

    तिरी राह कितनी तवील है मिरी ज़ीस्त कितनी क़लील है

    मिरा वक़्त तेरा असीर है मुझे लम्हा लम्हा सँवार दे

    The road to you is long, but my life is short

    My time is your captive, adorn me moment-by-moment

    मिरे दिल की दुनिया उदास है तो होश है हवास है

    मिरे दिल में के ठहर कभी मिरे साथ उम्र गुज़ार दे

    The word of my heart is sad, I have lost all my senses

    Come stop in my heart and spend the rest of your days with me

    मिरी नींद मूनिस-ए-ख़्वाब कर मिरी रत-जगों का हिसाब कर

    मिरे नाम फ़स्ल-ए-गुलाब कर कभी ऐसा मुझ को भी प्यार दे

    Make my sleep the friend of dreams, count my nights of wakefulness

    Bequest the harvest of roses to me, give me such a love too

    शब-ए-ग़म अँधेरी है किस क़दर करूँ कैसे सुब्ह का मैं सफ़र

    मिरे चाँद मिरी ले ख़बर मुझे रौशनी का हिसार दे

    The night of sorrows is so dark, how shall I journey to the morning

    O my moon, come take news of me and bring me into the circle of light

    RECITATIONS

    इन्दिरा वर्मा

    इन्दिरा वर्मा

    इन्दिरा वर्मा

    मुझे रंग दे न सुरूर दे मिरे दिल में ख़ुद को उतार दे इन्दिरा वर्मा

    Additional information available

    Click on the INTERESTING button to view additional information associated with this sher.

    OKAY

    About this sher

    Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Morbi volutpat porttitor tortor, varius dignissim.

    Close

    rare Unpublished content

    This ghazal contains ashaar not published in the public domain. These are marked by a red line on the left.

    OKAY