मुजफ्फरपुर के शायर और अदीब

कुल: 43

शायर और अफ़साना निगार, अपनी रचनाओं में साझा सांस्कृतिक परम्पराओं की पुनरवलोकन के लिए जाने जाते हैं.

नई ग़ज़ल के प्रतिनिधि शायर

बोलिए