noImage

अातिश बहावलपुरी

हरियाणा से सम्बन्ध रखने वाले शायर और पत्रकार. साप्ताहिक ‘पैग़ाम’ के सम्पादक

हरियाणा से सम्बन्ध रखने वाले शायर और पत्रकार. साप्ताहिक ‘पैग़ाम’ के सम्पादक

ग़ज़ल 11

शेर 16

उमीद उन से वफ़ा की तो ख़ैर क्या कीजे

जफ़ा भी करते नहीं वो कभी जफ़ा की तरह

तुम्हें तो अपनी जफ़ाओं की ख़ूब दाद मिली

मिरी वफ़ाओं का मुझ को कोई सिला मिला

अपने चेहरे से जो ज़ुल्फ़ों को हटाया उस ने

देख ली शाम ने ताबिंदा सहर की सूरत

ई-पुस्तक 2

Nazr-e-Iqbal

 

1981

Shama-e-Farozan

 

1984

 

Added to your favorites

Removed from your favorites