Afzaal Naveed's Photo'

समकालिक पाकिस्तानी शायरों में शामिल

समकालिक पाकिस्तानी शायरों में शामिल

अफ़ज़ाल नवेद

ग़ज़ल 20

शेर 19

अय्याम के ग़ुबार से निकला तो देर तक

मैं रास्तों को धूल बना देखता रहा

सहर की गूँज से आवाज़ा-ए-जमाल हुआ

सो जागता रहा अतराफ़ को जगाए हुए

ख़ाली हुआ गिलास नशा सर में गया

दरिया उतर गया तो समुंदर में गया

रहती है शब-ओ-रोज़ में बारिश सी तिरी याद

ख़्वाबों में उतर जाती हैं घनघोर सी आँखें

मैं ने बचपन की ख़ुशबू-ए-नाज़ुक

एक तितली के संग उड़ाई थी

पुस्तकें 4

Darwaze The Kuchh Aur Bhi

 

2018

ला मालूम

 

 

Mujh Par Wajood Aya Hua

 

2019

Samundar Bat Karta Hai

 

2017

 

"टोरंटो" के और शायर

  • हिमायत अली शाएर हिमायत अली शाएर
  • नसीम सय्यद नसीम सय्यद
  • रफ़ी रज़ा रफ़ी रज़ा
  • काज़िम वासती काज़िम वासती
  • ख़ालिद सुहैल ख़ालिद सुहैल
  • रुबीना फ़ैसल रुबीना फ़ैसल
  • इरफ़ाना अज़ीज़ इरफ़ाना अज़ीज़
  • वली आलम शाहीन वली आलम शाहीन