Altaf Hussain Hali's Photo'

अल्ताफ़ हुसैन हाली

1837 - 1914 | दिल्ली, भारत

उर्दू आलोचना के संस्थापकों में शामिल/महत्वपूर्ण पूर्वाधुनिक शायर/मिजऱ्ा ग़ालिब की जीवनी ‘यादगार-ए-ग़ालिब लिखने के लिए प्रसिद्ध

उर्दू आलोचना के संस्थापकों में शामिल/महत्वपूर्ण पूर्वाधुनिक शायर/मिजऱ्ा ग़ालिब की जीवनी ‘यादगार-ए-ग़ालिब लिखने के लिए प्रसिद्ध

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो

सत्या मुआसिर

फ़रीदा ख़ानम

सत्या मुआसिर

सत्या मुआसिर

अब वो अगला सा इल्तिफ़ात नहीं

अब वो अगला सा इल्तिफ़ात नहीं फ़िरदौसी बेगम

आगे बढ़े न क़िस्सा-ए-इश्क़-ए-बुताँ से हम

आगे बढ़े न क़िस्सा-ए-इश्क़-ए-बुताँ से हम मेहदी हसन

आलिम ओ जाहिल में क्या फ़र्क़ है

आलिम ओ जाहिल में क्या फ़र्क़ है सत्या मुआसिर

मिट्टी का दिया

मिट्टी का दिया अज्ञात

है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ

है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ अज्ञात

है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ

है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ इक़बाल बानो

अन्य वीडियो

  • सत्या मुआसिर

  • फ़रीदा ख़ानम

  • सत्या मुआसिर

  • सत्या मुआसिर

  • अब वो अगला सा इल्तिफ़ात नहीं

    अब वो अगला सा इल्तिफ़ात नहीं फ़िरदौसी बेगम

  • आगे बढ़े न क़िस्सा-ए-इश्क़-ए-बुताँ से हम

    आगे बढ़े न क़िस्सा-ए-इश्क़-ए-बुताँ से हम मेहदी हसन

  • आलिम ओ जाहिल में क्या फ़र्क़ है

    आलिम ओ जाहिल में क्या फ़र्क़ है सत्या मुआसिर

  • मिट्टी का दिया

    मिट्टी का दिया अज्ञात

  • है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ

    है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ अज्ञात

  • है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ

    है जुस्तुजू कि ख़ूब से है ख़ूब-तर कहाँ इक़बाल बानो