ग़ज़ल 11

नज़्म 1

 

शेर 8

ये जो लाहौर से मोहब्बत है

ये किसी और से मोहब्बत है

  • शेयर कीजिए

मुझे ठुकरा दिया तू ने फ़क़त शाइ'र समझ कर आज

मिरी नज़्में तिरे बच्चे सिलेबस में पढ़ें तो फिर

  • शेयर कीजिए

मोहब्बत मुझ को ऐसा हौसला ख़ैरात कर

उस को बाज़ू से पकड़ कर कह सकूँ कि बात कर

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 1

Ye Jo Lahore se Mohabbat Hai

 

 

 

वीडियो 5

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
घर से तुम्हारी दी हुई चीज़ें निकाल दें

फख़्र अब्बास

बिल्कुल तुम सा और तुम्हारा लगता हूँ

फख़्र अब्बास

याद

आज भी जब मैं बाईक पे बैठूँ फख़्र अब्बास

रोती हुई आँखों का वो मंज़र नहीं देखा

फख़्र अब्बास

"सरगोधा" के और शायर

  • अनवर सदीद अनवर सदीद
  • जानाँ मलिक जानाँ मलिक
  • अफ़ज़ल गौहर राव अफ़ज़ल गौहर राव
  • अरशद महमूद अरशद अरशद महमूद अरशद
  • हारिस बिलाल हारिस बिलाल
  • मुक़द्दस मालिक मुक़द्दस मालिक
  • अज़्बर सफ़ीर अज़्बर सफ़ीर
  • मोईन निज़ामी मोईन निज़ामी
  • ऐन नक़्वी ऐन नक़्वी
  • शहज़ाद वासिक़ शहज़ाद वासिक़