Ghulam Rabbani Taban's Photo'

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ

1914 - 1993 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल

कमाल-ए-बे-ख़बरी को ख़बर समझते हैं

नोमान शौक़

किसी के हाथ में जाम-ए-शराब आया है

नोमान शौक़

गुलों के साथ अजल के पयाम भी आए

नोमान शौक़

छटे ग़ुबार-ए-नज़र बाम-ए-तूर आ जाए

नोमान शौक़

जुनूँ ख़ुद-नुमा ख़ुद-नगर भी नहीं

नोमान शौक़

दाद भी फ़ित्ना-ए-बेदाद भी क़ातिल की तरफ़

नोमान शौक़

मिरी सहबा-परस्ती मोरीद-ए-इल्ज़ाम है साक़ी

नोमान शौक़

ये हुजुम-ए-रस्म-ओ-रह दुनिया की पाबंदी भी है

नोमान शौक़

वो रौशनी कि ब-क़ैद-ए-सहर नहीं ऐ दोस्त

नोमान शौक़

हुजूम-ए-दर्द का इतना बढ़े असर गुम हो

नोमान शौक़

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI