noImage

हज़ीं सिद्दीक़ी

1922 - 1955 | मुल्तान, पाकिस्तान

शेर 1

फिर इशारों से बुलाते हैं वो अपनी जानिब

और जो ये भी निगह-ए-शौक़ का धोका निकला

  • शेयर कीजिए
 

"मुल्तान" के और शायर

  • ग़ुलाम हुसैन साजिद ग़ुलाम हुसैन साजिद
  • मोहसिन नक़वी मोहसिन नक़वी
  • अर्श सिद्दीक़ी अर्श सिद्दीक़ी
  • क़मर रज़ा शहज़ाद क़मर रज़ा शहज़ाद
  • ज़ियाउल मुस्तफ़ा तुर्क ज़ियाउल मुस्तफ़ा तुर्क
  • वक़ार ख़ान वक़ार ख़ान
  • हिना अंबरीन हिना अंबरीन
  • मुबश्शिर सईद मुबश्शिर सईद
  • रम्ज़ी असीम रम्ज़ी असीम
  • अरशद अब्बास ज़की अरशद अब्बास ज़की