नज़्म 1

 

शेर 1

हवा चली तो कोई नक़्श-ए-मोतबर बचा

कोई दिया कोई बादल कोई शजर बचा

  • शेयर कीजिए
 

संबंधित शायर

  • अमीर इमाम अमीर इमाम बेटा

"मुरादाबाद" के और शायर

  • गौहर उस्मानी गौहर उस्मानी
  • शाकिर हुसैन इस्लाही शाकिर हुसैन इस्लाही
  • सुबहान असद सुबहान असद
  • मैराज नक़वी मैराज नक़वी
  • आरिफ हसन  ख़ान आरिफ हसन ख़ान
  • एजाज़ वारसी एजाज़ वारसी
  • फ़रहत अली ख़ान फ़रहत अली ख़ान
  • नाज़ मुरादाबादी नाज़ मुरादाबादी
  • क़ाज़ी एहतिशाम बछरौनी क़ाज़ी एहतिशाम बछरौनी
  • कैलाश माहिर कैलाश माहिर