Kaleem Aajiz's Photo'

कलीम आजिज़

1924 - 2015 | पटना, भारत

क्लासिकी लहजे के प्रमुख और लोकप्रिय शायर

क्लासिकी लहजे के प्रमुख और लोकप्रिय शायर

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

कलीम आजिज़

Mushaira ba-aizaaz kaleem ajiz

कलीम आजिज़

क्या ग़म है अगर शिकवा-ए-ग़म आम है प्यारे

कलीम आजिज़

किस नाज़ किस अंदाज़ से तुम हाए चलो हो

कलीम आजिज़

ये आँसू बे-सबब जारी नहीं है

कलीम आजिज़

ये दीवाने कभी पाबंदियों का ग़म नहीं लेंगे

कलीम आजिज़

यही बेकसी थी तमाम शब उसी बेकसी में सहर हुई

कलीम आजिज़

शाने का बहुत ख़ून-ए-जिगर जाए है प्यारे

कलीम आजिज़

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
mere hi lahu par guzar auqat karo ho

अज्ञात

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • कलीम आजिज़

  • Mushaira ba-aizaaz kaleem ajiz

    Mushaira ba-aizaaz kaleem ajiz कलीम आजिज़

  • क्या ग़म है अगर शिकवा-ए-ग़म आम है प्यारे

    क्या ग़म है अगर शिकवा-ए-ग़म आम है प्यारे कलीम आजिज़

  • किस नाज़ किस अंदाज़ से तुम हाए चलो हो

    किस नाज़ किस अंदाज़ से तुम हाए चलो हो कलीम आजिज़

  • ये आँसू बे-सबब जारी नहीं है

    ये आँसू बे-सबब जारी नहीं है कलीम आजिज़

  • ये दीवाने कभी पाबंदियों का ग़म नहीं लेंगे

    ये दीवाने कभी पाबंदियों का ग़म नहीं लेंगे कलीम आजिज़

  • यही बेकसी थी तमाम शब उसी बेकसी में सहर हुई

    यही बेकसी थी तमाम शब उसी बेकसी में सहर हुई कलीम आजिज़

  • शाने का बहुत ख़ून-ए-जिगर जाए है प्यारे

    शाने का बहुत ख़ून-ए-जिगर जाए है प्यारे कलीम आजिज़

अन्य वीडियो

  • mere hi lahu par guzar auqat karo ho

    mere hi lahu par guzar auqat karo ho अज्ञात