Majnoon Gorakhpuri's Photo'

मजनूँ गोरखपुरी

1904 - 1988 | अलीगढ़, भारत

प्रसिद्ध प्रगतिशील आलोचक, रुमानवी शैली के कहानीकारों में शामिल

प्रसिद्ध प्रगतिशील आलोचक, रुमानवी शैली के कहानीकारों में शामिल

नज़्म 1

 

शेर 3

आज़ादी की धूमें हैं शोहरे हैं तरक़्क़ी के

हर गाम है पस्पाई हर वज़्अ ग़ुलामाना

  • शेयर कीजिए

जब से आया है वो मुखड़ा नज़र आईने को

तब से अपनी भी नहीं है ख़बर आईने को

  • शेयर कीजिए

हिनाई हाथ से आँचल सँभाले

ये शरमाता हुआ कौन रहा है

  • शेयर कीजिए
 

कहानी 7

ई-पुस्तक 33

Adab Aur Zindagi

 

1939

Adab Aur Zindagi

 

1964

Adab Aur Zindagi

 

1984

Adab Aur Zindagi

 

1944

Afsana

 

1935

Dosh-o-Farda

 

 

Dosh-o-Farda

Adabi Tanqidon Ka Majmua

 

गर्दिश

 

1945

Ghalib

 

1976

ग़ालिब शख़्स और शायर

 

1995

"अलीगढ़" के और शायर

  • जमुना प्रसाद राही जमुना प्रसाद राही
  • सिराज अजमली सिराज अजमली
  • शोला अलीगढ़ी शोला अलीगढ़ी
  • ज़ाहिदा ज़ैदी ज़ाहिदा ज़ैदी
  • दानिश अलीगढ़ी दानिश अलीगढ़ी
  • मुईद रशीदी मुईद रशीदी
  • नसीम सिद्दीक़ी नसीम सिद्दीक़ी
  • आल-ए-अहमद सूरूर आल-ए-अहमद सूरूर
  • मुईन अहसन जज़्बी मुईन अहसन जज़्बी
  • ज़े ख़े शीन ज़े ख़े शीन