noImage

मंसूर उमर

1955 | दरभंगा, भारत

शेर 1

है शादाब नफ़रत का जंगल बहुत ही

मोहब्बत का हर पेड़ सूखा पड़ा है

  • शेयर कीजिए
 

ई-पुस्तक 7

Akhtar Ansari : Hayat Aur Adabi Khidmaat

 

1993

Akhtar Ansari Dehlvi : Hayat Aur Adabi Khidmat

 

1993

Akhtar Ansari Dehlvi : Hayat Aur Adabi Khidmat

 

1993

Bagh-e-Khush Usloob

 

2008

गर्म सूरज का लहू

 

2007

Ma-Baad-e-Jadidiyat: Muzmarat-o-Mumkinat

 

2006

Rida-e-Hunar

 

2002

Tarazi Aur Taraz-e-Bayan

 

2006

 

"दरभंगा" के और शायर

  • मोहम्मद हसन मोहसिन मोहम्मद हसन मोहसिन
  • अब्दुल मन्नान तरज़ी अब्दुल मन्नान तरज़ी
  • मंसूर ख़ुशतर मंसूर ख़ुशतर
  • जमाल ओवैसी जमाल ओवैसी