Momin Khan Momin's Photo'

मोमिन ख़ाँ मोमिन

1800 - 1852 | दिल्ली, भारत

ग़ालिब और ज़ौक़ के समकालीन। वह हकीम, ज्योतिषी और शतरंज के खिलाड़ी भी थे। कहा जाता है मिर्ज़ा ग़ालीब ने उनके शेर ' तुम मेरे पास होते हो गोया/ जब कोई दूसरा नही होता ' पर अपना पूरा दीवान देने की बात कही थी।

ग़ालिब और ज़ौक़ के समकालीन। वह हकीम, ज्योतिषी और शतरंज के खिलाड़ी भी थे। कहा जाता है मिर्ज़ा ग़ालीब ने उनके शेर ' तुम मेरे पास होते हो गोया/ जब कोई दूसरा नही होता ' पर अपना पूरा दीवान देने की बात कही थी।

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायरी वीडियो
Momin Khan Momin - Zubaan-e-Ishq

मुज़फ्फर अली

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
असर उस को ज़रा नहीं होता

असर उस को ज़रा नहीं होता ग़ुलाम अब्बास

असर उस को ज़रा नहीं होता

असर उस को ज़रा नहीं होता सुरैया

असर उस को ज़रा नहीं होता

असर उस को ज़रा नहीं होता फ़रीदा ख़ानम

आँखों से हया टपके है अंदाज़ तो देखो

आँखों से हया टपके है अंदाज़ तो देखो अज्ञात

उल्टे वो शिकवे करते हैं और किस अदा के साथ

उल्टे वो शिकवे करते हैं और किस अदा के साथ नसीम बेगम

ठानी थी दिल में अब न मिलेंगे किसी से हम

ठानी थी दिल में अब न मिलेंगे किसी से हम ताज मुल्तानी

दफ़्न जब ख़ाक में हम सोख़्ता-सामाँ होंगे

दफ़्न जब ख़ाक में हम सोख़्ता-सामाँ होंगे मेहदी हसन

रोया करेंगे आप भी पहरों इसी तरह

रोया करेंगे आप भी पहरों इसी तरह ग़ुलाम अली

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो उस्बताद बरकत अली ख़ान

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो भारती विश्वनाथन

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो बेगम अख़्तर

हम समझते हैं आज़माने को

हम समझते हैं आज़माने को मेहदी हसन

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो फ़रीदा ख़ानम

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो फ़िरोज़ा बेगम

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो हरिहरण

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो आबिदा परवीन

शायरी वीडियो

  • Momin Khan Momin - Zubaan-e-Ishq

    Momin Khan Momin - Zubaan-e-Ishq मुज़फ्फर अली

अन्य वीडियो

  • असर उस को ज़रा नहीं होता

    असर उस को ज़रा नहीं होता ग़ुलाम अब्बास

  • असर उस को ज़रा नहीं होता

    असर उस को ज़रा नहीं होता सुरैया

  • असर उस को ज़रा नहीं होता

    असर उस को ज़रा नहीं होता फ़रीदा ख़ानम

  • आँखों से हया टपके है अंदाज़ तो देखो

    आँखों से हया टपके है अंदाज़ तो देखो अज्ञात

  • उल्टे वो शिकवे करते हैं और किस अदा के साथ

    उल्टे वो शिकवे करते हैं और किस अदा के साथ नसीम बेगम

  • ठानी थी दिल में अब न मिलेंगे किसी से हम

    ठानी थी दिल में अब न मिलेंगे किसी से हम ताज मुल्तानी

  • दफ़्न जब ख़ाक में हम सोख़्ता-सामाँ होंगे

    दफ़्न जब ख़ाक में हम सोख़्ता-सामाँ होंगे मेहदी हसन

  • रोया करेंगे आप भी पहरों इसी तरह

    रोया करेंगे आप भी पहरों इसी तरह ग़ुलाम अली

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो उस्बताद बरकत अली ख़ान

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो भारती विश्वनाथन

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो शांति हीरानंद

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो बेगम अख़्तर

  • हम समझते हैं आज़माने को

    हम समझते हैं आज़माने को मेहदी हसन

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो फ़रीदा ख़ानम

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो फ़िरोज़ा बेगम

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो हरिहरण

  • वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो

    वो जो हम में तुम में क़रार था तुम्हें याद हो कि न याद हो आबिदा परवीन