Mushaf Iqbal Tausifi's Photo'

मुसहफ़ इक़बाल तौसिफ़ी

1940 | हैदराबाद, भारत

नई ग़ज़ल के प्रतिष्ठित शायर

नई ग़ज़ल के प्रतिष्ठित शायर

ग़ज़ल 26

नज़्म 21

शेर 3

देखा नहीं उस को कितने दिन से

उँगली पे किया हिसाब हम ने

किसी का नाम लूँ और ग़ज़ल के पर्दे में

बयान उस की मैं सारी सिफ़ात भी कर लूँ

मैं अगर चुप हूँ ये बहता हुआ दरिया क्या है

लब-कुशा हूँ तो मिरी बात से पहले क्या था

 

ई-पुस्तक 3

Door Kinara

 

2005

Faiza

 

1977

Sitara ya Aasman

 

2012

 

"हैदराबाद" के और शायर

  • शेर मोहम्मद ख़ाँ ईमान शेर मोहम्मद ख़ाँ ईमान
  • यूसुफ़ आज़मी यूसुफ़ आज़मी
  • रउफ़ ख़लिश रउफ़ ख़लिश
  • इनायत अली ख़ाँ इनायत अली ख़ाँ
  • राशिद आज़र राशिद आज़र
  • मुग़नी तबस्सुम मुग़नी तबस्सुम
  • ग़ौस ख़ाह मख़ाह  हैदराबादी ग़ौस ख़ाह मख़ाह हैदराबादी
  • सुलैमान अरीब सुलैमान अरीब
  • ख़ुर्शीद अहमद जामी ख़ुर्शीद अहमद जामी
  • अख़्तर अली अख़्तर अख़्तर अली अख़्तर

Added to your favorites

Removed from your favorites