Mushir Jhanjhanvi's Photo'

मुशीर झंझान्वी

1926 - 1990 | दिल्ली, भारत

मसर्रतों ने तो चाहा था दिल में जाएँ

हुजूम-ए-ग़म ने मगर उन को रास्ता दिया

happiness did indeed in my heart seek place

but the crowd of sorrows did not move to give them space

happiness did indeed in my heart seek place

but the crowd of sorrows did not move to give them space

वो सुन सकें कोई उनवाँ इसी लिए हम ने

बदल बदल के उन्हें दास्ताँ सुनाई है