Mushir Jhanjhanvi's Photo'

मुशीर झंझान्वी

1926 - 1990 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 12

नज़्म 1

 

शेर 2

मसर्रतों ने तो चाहा था दिल में जाएँ

हुजूम-ए-ग़म ने मगर उन को रास्ता दिया

happiness did indeed in my heart seek place

but the crowd of sorrows did not move to give them space

  • शेयर कीजिए

वो सुन सकें कोई उनवाँ इसी लिए हम ने

बदल बदल के उन्हें दास्ताँ सुनाई है

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 2

Anfas-e-Ghazal

 

1992

Besahil Dariya

 

1998

 

ऑडियो 9

तेरी चश्म-ए-सितम-ईजाद से डर लगता है

ताब-ए-नज़र से उन को परेशाँ किए हुए

दिल बेताब-ए-मर्ग-ए-ना-गहाँ बाक़ी न रह जाए

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • तमन्ना जमाली तमन्ना जमाली शिष्य
  • मुज़फ़्फ़र रज़्मी मुज़फ़्फ़र रज़्मी शिष्य
  • अनवर ताबाँ अनवर ताबाँ शिष्य
  • आसिम पीरज़ादा आसिम पीरज़ादा शिष्य
  • इफ़्फ़त ज़र्रीं इफ़्फ़त ज़र्रीं बेटी

"दिल्ली" के और शायर

  • शैख़  ज़हूरूद्दीन हातिम शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • इंशा अल्लाह ख़ान इंशा इंशा अल्लाह ख़ान इंशा
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • ख़्वाजा मीर दर्द ख़्वाजा मीर दर्द
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • मज़हर इमाम मज़हर इमाम
  • नसीम देहलवी नसीम देहलवी
  • बहादुर शाह ज़फ़र बहादुर शाह ज़फ़र
  • ज़हीर देहलवी ज़हीर देहलवी