noImage

नासिर कास ग्ंजूई

1928 - 2002

शेर 2

दिन तो फिर दिन है गुज़र जाता है

रात कटती है बड़ी मुश्किल से

  • शेयर कीजिए

हमीं पे ख़त्म कीजिए शिकायत-ए-दौराँ

जो चल पड़ी है तो फिर दूर तक ये बात चले

  • शेयर कीजिए