Yaqoob Yawar's Photo'

याक़ूब यावर

1952 | बनारस, भारत

ग़ज़ल 9

शेर 6

पहाड़ जैसी अज़्मतों का दाख़िला था शहर में

कि लोग आगही का इश्तिहार ले के चल दिए

तू ला-मकाँ में रहे और मैं मकाँ में असीर

ये क्या कि मुझ पे इताअत तिरी हराम हुई

लहू महका तो सारा शहर पागल हो गया है

मैं किस सफ़ से उठूँ किस के लिए ख़ंजर निकालूँ

पुस्तकें 25

Alif

 

1988

Aqleem Aswad

 

1990

अज़ाज़ील

 

2001

Darra-e-Khaiber Ke Us Paar

 

1988

Dilmun

 

1998

दिलमुन

 

1998

Dr. Zhivago

 

2000

Imroz

Asri Mazameen

1990

Jihad

 

2009

Jihad

 

2009

"बनारस" के और लेखक

  • प्रेमचंद प्रेमचंद
  • वसीम हैदर हाश्मी वसीम हैदर हाश्मी
  • हनीफ़ नक़वी हनीफ़ नक़वी