Ambareen Haseeb ambar's Photo'

अंबरीन हसीब अंबर

1981 | कराची, पाकिस्तान

मुशायरों की लोकप्रिय पाकिस्तानी शायरा

मुशायरों की लोकप्रिय पाकिस्तानी शायरा

हम तो सुनते थे कि मिल जाते हैं बिछड़े हुए लोग

तू जो बिछड़ा है तो क्या वक़्त ने गर्दिश नहीं की

संबंधित टैग