Fikr Tunsvi's Photo'

Fikr Tunsvi

1918 - 1987 | Delhi, India

Tanz-o-Mazah 4

 

Quote 42

कभी-कभी कोई इंतिहाई घटिया आदमी आपको इंतिहाई बढ़िया मश्वरा दे जाता है। मगर आह! कि आप मश्वरे की तरफ़ कम देखते हैं, घटिया आदमी की तरफ़ ज़्यादा।

  • Share this

ख़ुदा ने गुनाह को पहले पैदा नहीं किया। इंसान को पहले पैदा कर दिया। यह सोच कर कि अब ये ख़ुद-ब-ख़ुद गुनाह पैदा करेगा।

  • Share this

हम वादा करते हैं, तो किसी उम्मीद पर। लेकिन जब वादा पूरा करने लगते हैं, तो किसी डर के मारे।

  • Share this

कुँवारी लड़की उस वक़्त तक अपना बर्थ-डे मनाती रहती है, जब तक वह हनीमून मनाने के काबिल नहीं हो जाती।

  • Share this

ख़ूबसूरत औरत के मश्वरा से बिल्कुल बर-अक्स अमल करो। नतीजा ख़ुश-गवार निकलेगा।

  • Share this

BOOKS 36

Aadha Aadmi

 

1980

Akhri Kitab

 

1980

Baat Me Ghaat

 

1983

Badnam Kitab

 

1957

Badnam Kitab

 

1975

Chaupat Raja

 

1973

Chhata Darya

Ek Diary

1948

Chhilke Hi Chhilke

 

1984

Fikr Bani

 

1995

Fikr Nama

Tanziya Tahreeron Ka Intikhab

1977

RELATED Blog

 

More Authors From "Delhi"

  • Anisur Rahman Anisur Rahman
  • Shamim Hanafi Shamim Hanafi
  • Gopi Chand Narang Gopi Chand Narang
  • Devendra Satyarthi Devendra Satyarthi
  • Musharraf Alam Zauqi Musharraf Alam Zauqi
  • Talib Dehlavi Talib Dehlavi
  • Abu Bakr Abbad Abu Bakr Abbad
  • Nasir Nazeer Firaq Dehlvi Nasir Nazeer Firaq Dehlvi
  • Joginder Paul Joginder Paul
  • Sitvat Rasool Sitvat Rasool