aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

रद करें डाउनलोड शेर
Mukhtar Tilhari's Photo'

मुख़तार तलहरी

1960 | बरेली, भारत

मुख़तार तलहरी

अशआर 12

दिल दुखाना मिरा नहीं मक़्सद

हक़-बयानी मिरी नहीं जाती

  • शेयर कीजिए

मिरी हँसी को सर-ए-बज़्म सह लिया उस ने

फिर उस के बा'द अकेले में इंतिक़ाम लिया

  • शेयर कीजिए

आज ऐसी वादियों से हो के आया हूँ जहाँ

पेड़ थे नज़दीक लेकिन दूर तक साया था

  • शेयर कीजिए

रहा काम उस की जुस्तुजू में

इधर मैं ख़ुद से भी गुम हो गया हूँ

  • शेयर कीजिए

हमारे ज़ह्न पे उस का असर तो अब भी है

बिछड़ने वाला शरीक-ए-सफ़र तो अब भी है

  • शेयर कीजिए

ग़ज़ल 7

पुस्तकें 6

 

"बरेली" के और लेखक

 

Recitation

Jashn-e-Rekhta | 8-9-10 December 2023 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate - New Delhi

GET YOUR PASS
बोलिए