jhoolne

सूफ़ी तबस्सुम

सूफ़ी तबस्सुम
2013 | अन्य
  • सहयोगी

    रेख़्ता

  • श्रेणियाँ

    बाल-साहित्य

  • पृष्ठ

    97

पुस्तक: परिचय

परिचय

ایسی ہلکی پھلکی کتاب جو چھوٹے بچوں کے لئے لکھی گئی ہو اور بچے بھی اسے پسند کرنے لگیں بڑی بات ہے کیونکہ بچے کے ذہن کو سمجھنا آسان نہیں ۔ اس کے باوجود مصنف نے اس کتاب کے ذریعہ بچوں کے ذہن میں گھرکرلیا یعنی بچوں کے ذہن کو سمجھ لیا،قابل ستائش ہے۔ اس کتاب میں بچوں کی دلچسپ نظمیں تصاویر کے ساتھ دی گئی ہیں تاکہ بچے پڑھتے ہوئے فوٹو سے بھی لطف لیں۔ اس کتاب کی نظمیں گرچہ بچوں کے لئے ہیں مگر قافیے، وزن ، آہنگ اور الفاظ کی نزاکتوں پر بغیر مہارت کے یہ ممکن نہیں ہے اور اس کتاب کی نظموں میں یہ سب کچھ صاف طور پر نظر آ رہا ہے۔

.....और पढ़िए

लेखक: परिचय

सूफ़ी तबस्सुम

सूफ़ी तबस्सुम

ग़ुलाम मुस्तफ़ा सूफ़ीतबस्सुम की गिनती हल्क़ाए अरबाबे ज़ौक़ के प्रतिनिधि शाइरों में होता है. 4 अगस्त 1899 को अमृतसर में पैदा हुए. लाहौर के फोरमेन क्रिस्चियन कालेज फ़ारसी साहित्य में एम.ए.किया और गवर्नमेंट कालेज लाहौर में शिक्षक के रूप में अपनी सेवाएँ देनेलगे. फ़ारसी विभाग के विभागाध्य्क्ष के पद से सेवानिवृत हुए.
सूफ़ीतबस्सुम उर्दू के साथ साथ फ़ारसी में भी शाइ’री करते थे. उन्होंने ग़ालिब और अमीर ख़ुसरो की फ़ारसी शाइरी का उर्दू में अनुवाद भी किया. इसके अलावा उर्दू व फ़ारसी शाइरी के पंजाबी में भी बहुत से अनुवाद किये. सूफ़ीतबस्सुम को उनके अदबी ख़िदमात के लिए 1944 में हुकूमत ईरान ने ‘तम्गये निशाने सिपास’ से नवाज़ा और हुकूमत पाकिस्तान ने सितारा-ए-इम्तियाज़ से.
1978 में सूफ़ीतबस्सुम का देहांत हुआ.

.....और पढ़िए

लेखक की अन्य पुस्तकें

पूरा देखिए

लोकप्रिय और ट्रेंडिंग

पूरा देखिए

पुस्तकों की तलाश निम्नलिखित के अनुसार

पुस्तकें विषयानुसार

शायरी की पुस्तकें

पत्रिकाएँ

पुस्तक सूची

लेखकों की सूची

विश्वविद्यालय उर्दू पाठ्यक्रम