Afzal Ali Afzal's Photo'

अफ़ज़ल अली अफ़ज़ल

1998 | जयपुर, भारत

अफ़ज़ल अली अफ़ज़ल

ग़ज़ल 9

अशआर 10

समझ आता है हम को दुख बड़ों का

हम अपने घर के बच्चों में बड़े हैं

  • शेयर कीजिए

ख़ामोश आँखें उदास चेहरा ये बिखरी ज़ुल्फ़ें बुझा बुझा मन

कि ज़ीस्त जैसे हुई है बेवा उतार डाले तमाम गहने

  • शेयर कीजिए

चूमा था एक दिन किसी गुल की जबीन को

लहजे से आज तक मिरे ख़ुशबू नहीं गई

  • शेयर कीजिए

बे-ख़बर रोड पे इन भागते बच्चों को मैं

कितनी हसरत से थकन ओढ़े हुए देखता हूँ

  • शेयर कीजिए

रातों की नींद एक परी-ज़ाद ले उड़ी

दिन का सुकून फ़िक्र-ए-मईशत में खो गया

  • शेयर कीजिए

"जयपुर" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए