imtiyaz Khan's Photo'

इम्तियाज़ ख़ान

1989 | गुड़गाँव, भारत

ग़ज़ल 14

शेर 2

एहसान ज़िंदगी पे किए जा रहे हैं हम

मन तो नहीं है फिर भी जिए जा रहे हैं हम

  • शेयर कीजिए

हम को अक्सर ये ख़याल आता है उस को देख कर

ये सितारा कैसे ग़लती से ज़मीं पर रह गया

 

संबंधित शायर

  • आक़िब साबिर आक़िब साबिर समकालीन
  • क़मर अब्बास क़मर क़मर अब्बास क़मर समकालीन
  • राहुल झा राहुल झा समकालीन
  • प्रखर मालवीय कान्हा प्रखर मालवीय कान्हा समकालीन
  • आशू मिश्रा आशू मिश्रा समकालीन
  • अज़हर नवाज़ अज़हर नवाज़ समकालीन
  • नितिन नायाब नितिन नायाब समकालीन

"गुड़गाँव" के और शायर

  • शादान अहसन मारहरवी शादान अहसन मारहरवी
  • दिनाक्षी सहर दिनाक्षी सहर
  • विपुल कुमार विपुल कुमार
  • जगदीश प्रकाश जगदीश प्रकाश
  • मुसव्विर सब्ज़वारी मुसव्विर सब्ज़वारी