Iqbal Sohail's Photo'

इक़बाल सुहैल

1884 - 1955 | आज़मगढ़, भारत

स्वतंत्रता सेनानी, वकील, 1935 में यूपी विधानसभा के निर्वाचित सदस्य

स्वतंत्रता सेनानी, वकील, 1935 में यूपी विधानसभा के निर्वाचित सदस्य

इक़बाल सुहैल के संपूर्ण

ग़ज़ल 14

शेर 7

रहा कोई तार दामन में

अब नहीं हाजत-ए-रफ़ू मुझ को

  • शेयर कीजिए

जो तसव्वुर से मावरा हुआ

वो तो बंदा हुआ ख़ुदा हुआ

आशोब-ए-इज़्तिराब में खटका जो है तो ये

ग़म तेरा मिल जाए ग़म-ए-रोज़गार में

कुछ ऐसा है फ़रेब-ए-नर्गिस-ए-मस्ताना बरसों से

कि सब भूले हुए हैं काबा बुत-ख़ाना बरसों से

वो शबनम का सुकूँ हो या कि परवाने की बेताबी

अगर उड़ने की धुन होगी तो होंगे बाल-ओ-पर पैदा

पुस्तकें 4

अरमुग़ान-ए-हरम

 

1960

Iqbal Suhail Ki Shairi Ka Tajziyati Mutala

 

2017

Mauj-e-Kausar

 

 

ताबिश-ए-सुहेल

 

1958

 

ऑडियो 8

अब दिल को हम ने बंदा-ए-जानाँ बना दिया

असीरों में भी हो जाएँ जो कुछ आशुफ़्ता-सर पैदा

उफ़ क्या मज़ा मिला सितम-ए-रोज़गार में

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"आज़मगढ़" के और शायर

  • अख़तर मुस्लिमी अख़तर मुस्लिमी
  • मिर्ज़ा अतहर ज़िया मिर्ज़ा अतहर ज़िया
  • सरफ़राज़ नवाज़ सरफ़राज़ नवाज़
  • नौशाद अशहर नौशाद अशहर
  • तबस्सुम आज़मी तबस्सुम आज़मी
  • रहमत इलाही बर्क़ आज़मी रहमत इलाही बर्क़ आज़मी
  • मुख़तसर आज़मी मुख़तसर आज़मी
  • शाद बिलगवी शाद बिलगवी
  • संदीप गांधी नेहाल संदीप गांधी नेहाल
  • अबरार आज़मी अबरार आज़मी