Moin Ahsan Jazbi's Photo'

मुईन अहसन जज़्बी

1912 - 2005 | अलीगढ़, भारत

प्रमुखतम प्रगतिशील शायरों में विख्यात/ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ के समकालीन/अपनी गज़ल ‘मरने की दुआएँ क्यों माँगूँ.......’ के लिए प्रसिद्ध, जिसे कई गायकों ने स्वर दिए हैं

प्रमुखतम प्रगतिशील शायरों में विख्यात/ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ के समकालीन/अपनी गज़ल ‘मरने की दुआएँ क्यों माँगूँ.......’ के लिए प्रसिद्ध, जिसे कई गायकों ने स्वर दिए हैं

मुईन अहसन जज़्बी की पुस्तकें

9

Farozan

Firozan

1960

Gudaz-e-Shab

1985

Intikhab-e-Kalam-e-Jazbi

1982

Kulliyat-e-Jazbi

2007

Sukhan-e-Mukhtasar

1960

फ़िरोज़ाँ

1951

सुख़न-ए-मुख़्तसर

1960

हाली का सियासी शऊर

1959

मुईन अहसन जज़्बी पर पुस्तकें

7

Aaj Kal

Shumara Number-001

1994

Aligarh Magazine

Moin Ahsan Jazbi Wa As'ad Badayuni Number

2004

Hindustani Adab Ke Memar: Moin Ahsan Jazbi

2008

Jazbi Ki Shairi Ka Tanqeedi Mutala

1993

Moeen Ahsan Jazbi Shayar Aur Danishwar

2000

Urdu Channel-32

Moin Ahsan Jazbi Number: Shumara Number-001

2013

जज़्बी शनासी

2002