Muzaffar Warsi's Photo'

मुज़फ़्फ़र वारसी

1933 - 2011 | लाहौर, पाकिस्तान

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
मेरी जुदाइयों से वो मिल कर नहीं गया

मुज़फ़्फ़र वारसी

हाथ आँखों पे रख लेने से ख़तरा नहीं जाता

मुज़फ़्फ़र वारसी

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो
अब के बरसात की रुत और भी भड़कीली है

अब के बरसात की रुत और भी भड़कीली है चित्रा सिंह

क्या भला मुझ को परखने का नतीजा निकला

क्या भला मुझ को परखने का नतीजा निकला मेहदी हसन

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • मेरी जुदाइयों से वो मिल कर नहीं गया

    मेरी जुदाइयों से वो मिल कर नहीं गया मुज़फ़्फ़र वारसी

  • हाथ आँखों पे रख लेने से ख़तरा नहीं जाता

    हाथ आँखों पे रख लेने से ख़तरा नहीं जाता मुज़फ़्फ़र वारसी

अन्य वीडियो

  • अब के बरसात की रुत और भी भड़कीली है

    अब के बरसात की रुत और भी भड़कीली है चित्रा सिंह

  • क्या भला मुझ को परखने का नतीजा निकला

    क्या भला मुझ को परखने का नतीजा निकला मेहदी हसन