Qateel Shifai's Photo'

क़तील शिफ़ाई

1919 - 2001 | लाहौर, पाकिस्तान

सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल/प्रमुख फि़ल्म गीतकार/अपनी गज़ल ‘गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते है’ के लिए प्रसिद्ध

सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल/प्रमुख फि़ल्म गीतकार/अपनी गज़ल ‘गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते है’ के लिए प्रसिद्ध

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
Qatiil Shifai reading in a mushaira

Qatiil Shifai reading in a mushaira क़तील शिफ़ाई

Qatil shifaii at mushaira

क़तील शिफ़ाई

अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की

क़तील शिफ़ाई

आओ कोई तफ़रीह का सामान किया जाए

क़तील शिफ़ाई

ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे

क़तील शिफ़ाई

रक़्स करने का मिला हुक्म जो दरियाओं में

क़तील शिफ़ाई

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो

मेहदी हसन

Ulfat ki nai manzil ko chala

Ulfat ki nai manzil ko chala इक़बाल बानो

क़तील शिफ़ाई

क़तील शिफ़ाई तौसीफ़ अख़्तर

यारो किसी क़ातिल से कभी प्यार न माँगो

यारो किसी क़ातिल से कभी प्यार न माँगो मेहदी हसन

अज्ञात

अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की

अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की चित्रा सिंह

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को मेहदी हसन

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को अज्ञात

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को अज्ञात

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को अज्ञात

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को असद अमानत अली

अपने होंटों पर सजाना चाहता हूँ

अपने होंटों पर सजाना चाहता हूँ जगजीत सिंह

किया है प्यार जिसे हम ने ज़िंदगी की तरह

किया है प्यार जिसे हम ने ज़िंदगी की तरह ग़ुलाम अली

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं नसीम बेगम

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं ज़ाहिदा परवीन

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं फ़रीदा ख़ानम

जो भी ग़ुंचा तिरे होंटों पे खिला करता है

जो भी ग़ुंचा तिरे होंटों पे खिला करता है नसीम बेगम

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं अज्ञात

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं अज्ञात

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं विविध

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं भूपिंदर सिंह

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं जगजीत सिंह

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते सज्जाद हुसैन

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते ओस्मान मीर

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते हबीब वली मोहम्मद

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते चित्रा सिंह

दिल को ग़म-ए-हयात गवारा है इन दिनों

दिल को ग़म-ए-हयात गवारा है इन दिनों अज्ञात

परेशाँ रात सारी है सितारो तुम तो सो जाओ

परेशाँ रात सारी है सितारो तुम तो सो जाओ इक़बाल बानो

मंज़र समेट लाए हैं जो तेरे गाँव के

मंज़र समेट लाए हैं जो तेरे गाँव के ग़ुलाम अली

ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे

ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे भारती विश्वनाथन

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अनुराधा पौडवाल

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे जगजीत सिंह

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे साबरी ब्रदर्स

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे भारती विश्वनाथन

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अनूप जलोटा

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे राज कुमार रिज़वी

हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं

हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं सलमान अल्वी

हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं

हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं सलीम रज़ा

ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे

ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे जगजीत सिंह

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

  • Qatiil Shifai reading in a mushaira

    Qatiil Shifai reading in a mushaira क़तील शिफ़ाई

  • Qatil shifaii at mushaira

    Qatil shifaii at mushaira क़तील शिफ़ाई

  • अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की

    अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की क़तील शिफ़ाई

  • आओ कोई तफ़रीह का सामान किया जाए

    आओ कोई तफ़रीह का सामान किया जाए क़तील शिफ़ाई

  • ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे

    ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे क़तील शिफ़ाई

  • रक़्स करने का मिला हुक्म जो दरियाओं में

    रक़्स करने का मिला हुक्म जो दरियाओं में क़तील शिफ़ाई

अन्य वीडियो

  • मेहदी हसन

  • Ulfat ki nai manzil ko chala

    Ulfat ki nai manzil ko chala इक़बाल बानो

  • क़तील शिफ़ाई

    क़तील शिफ़ाई तौसीफ़ अख़्तर

  • यारो किसी क़ातिल से कभी प्यार न माँगो

    यारो किसी क़ातिल से कभी प्यार न माँगो मेहदी हसन

  • अज्ञात

  • अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की

    अंगड़ाई पर अंगड़ाई लेती है रात जुदाई की चित्रा सिंह

  • अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

    अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को मेहदी हसन

  • अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

    अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को अज्ञात

  • अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

    अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को अज्ञात

  • अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

    अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को अज्ञात

  • अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को

    अपने हाथों की लकीरों में सजा ले मुझ को असद अमानत अली

  • अपने होंटों पर सजाना चाहता हूँ

    अपने होंटों पर सजाना चाहता हूँ जगजीत सिंह

  • किया है प्यार जिसे हम ने ज़िंदगी की तरह

    किया है प्यार जिसे हम ने ज़िंदगी की तरह ग़ुलाम अली

  • गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

    गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं नसीम बेगम

  • गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

    गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं ज़ाहिदा परवीन

  • गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं

    गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते हैं फ़रीदा ख़ानम

  • जो भी ग़ुंचा तिरे होंटों पे खिला करता है

    जो भी ग़ुंचा तिरे होंटों पे खिला करता है नसीम बेगम

  • तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

    तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं अज्ञात

  • तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

    तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं अज्ञात

  • तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

    तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं विविध

  • तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

    तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं भूपिंदर सिंह

  • तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं

    तुम पूछो और मैं न बताऊँ ऐसे तो हालात नहीं जगजीत सिंह

  • तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

    तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते सज्जाद हुसैन

  • तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

    तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते ओस्मान मीर

  • तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

    तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते हबीब वली मोहम्मद

  • तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते

    तुम्हारी अंजुमन से उठ के दीवाने कहाँ जाते चित्रा सिंह

  • दिल को ग़म-ए-हयात गवारा है इन दिनों

    दिल को ग़म-ए-हयात गवारा है इन दिनों अज्ञात

  • परेशाँ रात सारी है सितारो तुम तो सो जाओ

    परेशाँ रात सारी है सितारो तुम तो सो जाओ इक़बाल बानो

  • मंज़र समेट लाए हैं जो तेरे गाँव के

    मंज़र समेट लाए हैं जो तेरे गाँव के ग़ुलाम अली

  • ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे

    ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे भारती विश्वनाथन

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अज्ञात

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अनुराधा पौडवाल

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे जगजीत सिंह

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे साबरी ब्रदर्स

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे भारती विश्वनाथन

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे अनूप जलोटा

  • वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे

    वो दिल ही क्या तिरे मिलने की जो दुआ न करे राज कुमार रिज़वी

  • हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं

    हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं सलमान अल्वी

  • हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं

    हुस्न को चाँद जवानी को कँवल कहते हैं सलीम रज़ा

  • ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे

    ये मो'जिज़ा भी मोहब्बत कभी दिखाए मुझे जगजीत सिंह