Qateel Shifai's Photo'

क़तील शिफ़ाई

1919 - 2001 | लाहौर, पाकिस्तान

सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल/प्रमुख फि़ल्म गीतकार/अपनी गज़ल ‘गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते है’ के लिए प्रसिद्ध

सबसे लोकप्रिय शायरों में शामिल/प्रमुख फि़ल्म गीतकार/अपनी गज़ल ‘गर्मी-ए-हसरत-ए-नाकाम से जल जाते है’ के लिए प्रसिद्ध

उपनाम : 'क़तील'

मूल नाम : औरंगज़ेब ख़ाँ

जन्म : 24 Dec 1919 | हज़ारा, ख़ैबर पुख़्तुंख़ुवा

निधन : 11 Jul 2001

जब भी आता है मिरा नाम तिरे नाम के साथ

जाने क्यूँ लोग मिरे नाम से जल जाते हैं

whenever my name happens to be linked to thee

I wonder why these people burn with jealousy

whenever my name happens to be linked to thee

I wonder why these people burn with jealousy

क़तील शिफ़ाई, औरंगज़ेब ख़ाँ

 

1919-2001

रूमानीअन्दाज़केबेइन्तिहालोकप्रियशाइर।पाकिस्तानकेप्रमुखतमफ़िल्म-गीतकारोंमेंशामिल।प्रगतिशीलऔरमानवतावादीविचारधाराकेपक्षघर।ज़िलाहज़ारा(अबपाकिस्तानमें) मेंजन्ममगरसारीज़िन्दगीलाहौरमेंरहेऔरवहींदेहांतहुआ।

संबंधित टैग