ग़ज़ल 16

नज़्म 8

शेर 12

मिरे चाँद रात सूनी है

बात बनती नहीं सितारों से

  • शेयर कीजिए

एक भी आफ़्ताब बन सका

लाख टूटे हुए सितारों से

  • शेयर कीजिए

थक के पत्थर की तरह बैठा हूँ रस्ते में 'ज़फ़र'

जाने कब उठ सकूँ क्या जानिए कब घर जाऊँ

पुस्तकें 6

Sada Basahra

 

1961

Shahsawaar

 

1944

Unnees Sau Chhiyalees Ki Behtareen Nazmein

 

 

Zahr-e-Khand

 

 

Zindan

 

1944

Zindan

 

1944

 

संबंधित शायर

  • मीराजी मीराजी समकालीन
  • मजीद अमजद मजीद अमजद समकालीन

"रावलपिंडी" के और शायर

  • अख़्तर होशियारपुरी अख़्तर होशियारपुरी
  • साबिर ज़फ़र साबिर ज़फ़र
  • जलील ’आली’ जलील ’आली’
  • बाक़ी सिद्दीक़ी बाक़ी सिद्दीक़ी
  • जमील मलिक जमील मलिक
  • परवीन फ़ना सय्यद परवीन फ़ना सय्यद
  • अफ़ज़ल मिनहास अफ़ज़ल मिनहास
  • हसन अब्बास रज़ा हसन अब्बास रज़ा
  • नवेद फ़िदा सत्ती नवेद फ़िदा सत्ती
  • निसार नासिक निसार नासिक