Zafar Iqbal's Photo'

प्रमुखतम आधुनिक शायरों में विख्यात/नई दिशा देने वाले शायर

प्रमुखतम आधुनिक शायरों में विख्यात/नई दिशा देने वाले शायर

बस एक बार किसी ने गले लगाया था

गुफ़्तुगू उन से रोज़ होती है

उदासी आसमाँ है दिल मिरा कितना अकेला है

अब के इस बज़्म में कुछ अपना पता भी देना

मान मौसम का कहा छाई घटा जाम उठा

अगर इस खेल में अब वो भी शामिल होने वाला है

चाँद सा मिस्रा अकेला है मिरे काग़ज़ पर

तुम मोहब्बत को खेल कहते हो