Asad Mohammad Khan's Photo'

असद मोहम्मद ख़ाँ

1932 | कराची, पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रख्यात कथाकार, लेखक, विचारक और शायर

पाकिस्तान के प्रख्यात कथाकार, लेखक, विचारक और शायर

135
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

बासौदे की मरियम

यह एक दिल को छू लेने वाली जज़्बाती कहानी है। मरियम घर में किसी बुजु़र्ग की हैसियत से रहती है और उसका बेटा ममदू बासौदे में रहता है। मरियम की ख़्वाहिश हज पर जाने की है। इसके लिए वह इक्ट्ठा करती है। हज पर जाने की सारी तैयारियाँ हो चुकी हैं, बस टिकट का इंतेज़ार है। तभी ममदू की बीमारी का ख़त आता है। मरियम अपना सारा माल-ओ-मता‘अ इकट्ठा करके रोती-सुबकती बासौदा रवाना हो जाती है। ममदू को लेकर वह इस डाक्टर उस अस्पताल भटकती है और फिर ममदू को लेकर घर वापस आ जाती है। आख़िरकार ममदू मर जाता है। मरियम एक बार फिर से हज पर जाने की तैयारियाँ शुरू कर देती है, लेकिन इस बार भी मरियम हज पर नहीं जा पाती है कि उसके लिए खु़दा का बुलावा आ जाता है।