पेशावर के शायर और अदीब

कुल: 24

अपनी ग़ज़ल 'गो ज़रा सी बात पर बरसों के याराने गए' के लिए विख्यात, जिसे कई गायकों ने गाया है।

पाकिस्तान में नई ग़ज़ल के प्रतिष्ठित शायर

प्रसिद्ध कथाकार, हिन्दुस्तानी समाज के कमज़ोर समुदाय की कहानियां लिखने के लिए जाने जाते हैं, अपने लेखन के लिए कई महत्वपूर्ण सम्मानों से भी नवाज़े गये।

बोलिए