noImage

चूँचाल सियालकोटी

सियालकोट, पाकिस्तान

साठ के दशक में उभरने वाले अहम मज़ाहिया (हास्य) शायर

साठ के दशक में उभरने वाले अहम मज़ाहिया (हास्य) शायर

शेर 1

नोट दिखला कर उसे हम खेंच लाए अपने हाँ

हम कहते थे कि पैसा क़ाज़ी-उल-हाजात है

  • शेयर कीजिए
 

हास्य 1

 

ई-पुस्तक 1

 

"सियालकोट" के और शायर

  • शाहिद ज़की शाहिद ज़की
  • ज़िया-उल-मुस्तफ़ा तुर्क ज़िया-उल-मुस्तफ़ा तुर्क
  • ज़ुल्फ़िक़ार ज़की ज़ुल्फ़िक़ार ज़की
  • सरफ़राज़ आरिश सरफ़राज़ आरिश
  • जीफ़ ज़िया जीफ़ ज़िया
  • इफ़्तिख़ार शाहिद अबू साद इफ़्तिख़ार शाहिद अबू साद