Firdaus Gayavi's Photo'

फ़िरदौस गयावी

1954 | गया, भारत

फ़िरदौस गयावी

ग़ज़ल 10

अशआर 5

इल्म की इब्तिदा है हंगामा

इल्म की इंतिहा है ख़ामोशी

  • शेयर कीजिए

वही जो देता है दुनिया को उलझनों से नजात

कभी कभी वही उलझन में डाल देता है

  • शेयर कीजिए

तुम को आना है तो जाओ इसी आलम में

बिगड़े हालात ग़रीबों के सँवरते हैं कहीं

  • शेयर कीजिए

तमाम उम्र जो हँसता ही रह गया यारो

बला का दर्द था उस शख़्स की कहानी में

  • शेयर कीजिए

मैं एक संग हूँ मुझ में हैं सूरतें पिन्हाँ

मुझे तराशने आज़र तो सामने आए

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 2

 

चित्र शायरी 1

 

"गया" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए