Jyoti Azad Khatri's Photo'

ज्योती आज़ाद खतरी

ग्वालियर, भारत

ज्योती आज़ाद खतरी

ग़ज़ल 23

नज़्म 2

 

अशआर 16

उस से बातें तो बहुत करनी थीं पर सोच लिया

उस की हर बात पे कहना है कोई बात नहीं

  • शेयर कीजिए

मैं सामने हूँ अभी गुफ़्तुगू करो मुझ से

कि बाद में मिरी तस्वीर देखते रहना

  • शेयर कीजिए

उसी के चेहरे पे आँखें हमारी रह जाएँ

किसी को इतना भी क्या देखना ज़रूरी है

  • शेयर कीजिए

मैं अपनी आँखों से दुनिया को जीत लाऊँगी

तू मेरे पाँव की ज़ंजीर देखते रहना

  • शेयर कीजिए

दस्तूर ही अलग है तिरी बज़्म-ए-नाज़ का

इल्ज़ाम दे के कह दिया इल्ज़ाम ही तो है

  • शेयर कीजिए

"ग्वालियर" के और शायर

 

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए