Matin Niazi's Photo'

मतीन नियाज़ी

1913 | कानपुर, भारत

ग़ज़ल 9

शेर 26

ज़िंदगी की भी यक़ीनन कोई मंज़िल होगी

ये सफ़र ही की तरह एक सफ़र है कि नहीं

  • शेयर कीजिए

अगर दुनिया तुझे दीवाना कहती है तो कहने दे

वफ़ादारान-ए-उल्फ़त पर यही इल्ज़ाम आता है

  • शेयर कीजिए

ग़म-ए-इंसाँ को सीने से लगा लो

ये ख़िदमत बंदगी से कम नहीं है

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 1

Fikr-e-Mateen

 

1986

 

"कानपुर" के और शायर

  • ज़ेब ग़ौरी ज़ेब ग़ौरी
  • नुशूर वाहिदी नुशूर वाहिदी
  • फ़ना निज़ामी कानपुरी फ़ना निज़ामी कानपुरी
  • मयंक अवस्थी मयंक अवस्थी
  • अबुल हसनात हक़्क़ी अबुल हसनात हक़्क़ी
  • असलम महमूद असलम महमूद
  • चाँदनी पांडे चाँदनी पांडे
  • मोहम्मद अहमद रम्ज़ मोहम्मद अहमद रम्ज़
  • क़ौसर जायसी क़ौसर जायसी
  • नाज़िर सिद्दीक़ी नाज़िर सिद्दीक़ी