Naeem Akhtar Khadimi's Photo'

नईम अख़्तर ख़ादिमी

बुरहानपुर, भारत

ग़ज़ल 1

 

शेर 1

वो जितनी ख़ुद-नुमाई कर रहा है

ख़ुद अपनी जग-हँसाई कर रहा है

 

क़ितआ 1

 

संबंधित शायर

  • शकील जमाली शकील जमाली समकालीन
  • अंजुम रहबर अंजुम रहबर समकालीन
  • अज़्म शाकरी अज़्म शाकरी समकालीन
  • नुसरत मेहदी नुसरत मेहदी समकालीन
  • मंज़र भोपाली मंज़र भोपाली समकालीन

"बुरहानपुर" के और शायर

  • शहज़ाद अंजुम बुरहानी शहज़ाद अंजुम बुरहानी
  • फ़ज़ल हुसैन साबिर फ़ज़ल हुसैन साबिर
  • मजाज़ आशना मजाज़ आशना