ग़ज़ल 8

शेर 1

तेरे इस मोड़ पर कर अचानक फिर से मिल जाएँ

चलते बन रहा हम से ये होता ठहर जाएँ

  • शेयर कीजिए
 

"दिल्ली" के और शायर

  • हकीम आग़ा जान ऐश हकीम आग़ा जान ऐश
  • हीरा लाल फ़लक देहलवी हीरा लाल फ़लक देहलवी
  • सौरभ शेखर सौरभ शेखर
  • अशोक लाल अशोक लाल
  • शकील शम्सी शकील शम्सी
  • साहिबा शहरयार साहिबा शहरयार
  • नूरुल ऐन क़ैसर क़ासमी नूरुल ऐन क़ैसर क़ासमी
  • ममनून निज़ामुद्दीन ममनून निज़ामुद्दीन
  • चंद्रभान कैफ़ी देहल्वी चंद्रभान कैफ़ी देहल्वी
  • नसीम देहलवी नसीम देहलवी