Shahbaz Nadeem Ziai's Photo'

शहबाज़ नदीम ज़ियाई

1951 - 2017 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 4

 

शेर 2

इक ग़लत-फ़हमी ने दिल का आइना धुँदला दिया

इक ग़लत-फ़हमी से बरसों की शनासाई गई

one misunderstanding fogged the mirror of the heart

one misunderstanding rent lifelong friends apart

one misunderstanding fogged the mirror of the heart

one misunderstanding rent lifelong friends apart

  • शेयर कीजिए

चलो यूँ ही सही हम बेवफ़ा हैं

मगर ये तो बताएँ आप क्या हैं

I'm faithless, well, if so you say

but what are you? Do tell me pray

I'm faithless, well, if so you say

but what are you? Do tell me pray

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 8

इश्क़ है

 

 

Jazbon Ki Zaban

 

1982

Khusboo Chehrah

 

2007

Mojiza

 

2001

Mojiza

 

2001

Pas-e-Ashk

 

2011

शाहबाज़

 

1995

 

"दिल्ली" के और शायर

  • राशिद जमाल फ़ारूक़ी राशिद जमाल फ़ारूक़ी
  • नियाज़ हैदर नियाज़ हैदर
  • नश्तर अमरोहवी नश्तर अमरोहवी
  • नज़्मी सिकंदराबादी नज़्मी सिकंदराबादी
  • मीर शम्सुद्दीन फ़क़ीर मीर शम्सुद्दीन फ़क़ीर
  • अबीर अबुज़री अबीर अबुज़री
  • ज़फ़र मुरादाबादी ज़फ़र मुरादाबादी
  • सलाहुद्दीन परवेज़ सलाहुद्दीन परवेज़
  • ख़ालिद महमूद ख़ालिद महमूद
  • अरशद कमाल अरशद कमाल