noImage

ताहिर तिलहरी

1936 | शाहजहाँपुर, भारत

शेर 1

दोस्तों मैं कोई ख़ुदा तो था

तुम ने फिर क्यूँ भुला दिया मुझ को

Friends, God, I'm surely not

Then why for have you forgot

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 2

Al-Kalam

 

1987

Pahla Patthar

 

1974

 

"शाहजहाँपुर" के और शायर

  • रविश सिद्दीक़ी रविश सिद्दीक़ी
  • सिराज फ़ैसल ख़ान सिराज फ़ैसल ख़ान
  • पंडित जगमोहन नाथ रैना शौक़ पंडित जगमोहन नाथ रैना शौक़
  • अख़तर शाहजहाँपुरी अख़तर शाहजहाँपुरी
  • रौनक़ रज़ा रौनक़ रज़ा
  • दिल शाहजहाँपुरी दिल शाहजहाँपुरी
  • नसीम शाहजहाँपुरी नसीम शाहजहाँपुरी
  • सय्यदा शान-ए-मेराज सय्यदा शान-ए-मेराज
  • रशीद शाहजहाँपुरी रशीद शाहजहाँपुरी
  • जगदीश सहाय सक्सेना जगदीश सहाय सक्सेना